प्रशांत पंड्या का फिला जगत

डाक टिकट संग्रह के सर्व प्रथम हिन्दी ब्लॉग में आपका स्वागत है | इस माध्यम से भारतीय राष्ट्रीय भाषा में डाक टिकट संग्रह के बारे में जानकारी उपलब्ध कराने का यह एक प्रयास है |

महाराजा विजयसिंहजी की एप्सम डर्बी जीत के 75 वर्ष के अवसर पर राजपीपला राज्य के तत्कालीन शाही परिवार द्वारा विशेष आवरण के विमोचन समारोह का आयोजन 6 जून 2009 को विजय पैलेस, राजपीपला में किया गया । विशेष आवरण का विमोचन वड़ोदरा क्षेत्र के पोस्ट मास्टर जनरल श्री अरविंद कुमार जोशी द्वारा शाही परिवार के सदस्यों, भारतीय डाक विभाग के अधिकारी और मेहमानों की उपस्थिति में किया गया । आपका यह ब्लोगर मित्र एवं फिलेटेलिस्ट प्रशांत पंड्या भी इस् अवसर पर मौजूद था ।

विशेष आवरण (Special Cover) पर पहली तस्वीर में महाराजा विजयसिंह्जी और उनके अश्व विंडसर लेड को और दूसरी तस्वीर में डर्बी जीत के बाद महाराजा विजयसिंहजी को अपने अश्व विंडसर लेड और उनके जॉकी के साथ प्रस्थान करते हुए दर्शाया गया है । विशेष आवरण की डिजाईन अहमदाबाद के हमारे मित्र सपन ज़वेरी ने तैयार की है।

विशेष रद्दीकरण (Special Cancellation) का डिजाईन विंडसर लेड की डर्बी जीत की चित्रकारी और राजपीपला राज्य के राज्य चिह्न के ऊपर आधारित है जिसकी डिजाईन प्रशांत पंड्या ने तैयार की है।

sp cover release 01 sp cover release 02

पहली तस्वीर में वड़ोदरा क्षेत्र के पोस्ट मास्टर जनरल श्री अरविंद कुमार जोषी विशेष (Special Cover) पर विशेष रद्दीकरण (Special Cancellation) की मुहर लगाते हुए | पोस्ट मास्टर जनरल श्री जोषी के दाहिने ओर महाराजा विजय सिंहजी के पोते श्री इंद्र विक्रम सिंहजी और बाईं तरफ फिलेटेलिस्ट श्री प्रशांत पंड्या और महाराजा विजय सिंहजी के प्रपौत्र श्री मानवेन्द्र सिंहजी |

दूसरी तस्वीर में पोस्ट मास्टर जनरल श्री जोशी मेहमानों को विशेष कवर दिखाते हुए और साथ में श्री इंद्र विक्रम सिंहजी और प्रशांत पंड्या |

presentation 01 presentation 02

पहली तस्वीर में बड़ौदा डाक क्षेत्र के डाक सेवा निदेशक श्री एम्। संपत, महाराजा विजय सिंहजी के पोते महाराणा श्री रघुबीर सिंहजी और पोस्ट मास्टर जनरल श्री जोषी |

इस विशेष आवरण के विमोचन समारोह के दौरान राजपीपला के शाही परिवार द्वारा फिलेटेलिस्ट श्री प्रशांत पंड्या को महाराजा विजय सिंहजी के विंडसर लेड के साथ की पेंटिंग की प्रस्तुति द्वारा सम्मानित किया गया |

अन्य समाचार के लिंक्स

Rajpipla horse won history for India (DNA)

Royal tribute marks 75th anniversary of India's only win at English derby


Derby Victory Celebrations at Rajpipla

Platinum Jubilee Celebrations of Derby Victory of Maharaja of Rajpipla

Maharaja Vijaysinhji Scripted History 75 Years Ago

Rajpipla horse won history for India