प्रशांत पंड्या का फिला जगत

डाक टिकट संग्रह के सर्व प्रथम हिन्दी ब्लॉग में आपका स्वागत है | इस माध्यम से भारतीय राष्ट्रीय भाषा में डाक टिकट संग्रह के बारे में जानकारी उपलब्ध कराने का यह एक प्रयास है |

डाक टिकट प्रदर्शनी के दौरान आपके एक्ज़िबिट के साथ एक्ज़िबिट का एक सार पृष्ठ (Synopsis of Exhibit) हर एक प्रतियोगी (exhibitor) को प्रदर्शनी के आयोजको को भेजना जरुरी समझा जाता है | एक्ज़िबिट बनाते समय निम्न बाते ध्यान में लेना जरुरी है और इन चीजो को सार पृष्ठ (Synopsis of Exhibit) में शामिल करना भी जरुरी है |

एक्ज़िबिट का शीर्षक (Title of Exhibit )
एक्ज़िबिट का शीर्षक self explanatory होना चाहिए, यह ज्युरी के सदस्यों (members of jury) को आपका एक्ज़िबिट संक्षिप्त और मुद्दे के अनुरुप है की नहीं वह देखने में मदद करता है |

एक्ज़िबिट का उद्देश्य (Purpose of Exhibit)
आप क्या
प्रदर्शित कर रहे है उसका उद्देश्य परिभाषित करना अत्यंत ही जरुरी हैं | अपने एक्ज़िबिट में आप क्या दिखाने जा रहे हैं, कयूं दीखा रहे है और आपका एक्ज़िबिट प्रकार का है यह बताना बहुत ही आवश्यक है | (e.g. Postal History, Traditional Philately etc.)

एक्ज़िबिट कि परियोजना (Exhibit Plan)
एक्ज़िबिट का प्रवाह (flow) या एक्ज़िबिट का अनुक्रम (sequence) क्या है यह जरुर समझाइए | आपके एक्ज़िबिट को तैयार करने में, दुर्लभता और हालत (condition and rarity factors) को नजर में रखते हुए एक्ज़िबिट की फिलाटेलीक सामग्री (philatelic items) को एकत्रित करने में और अपने विषय के बारे में संशोधन करने में क्या क्या चुनौतियों और कठिनाइयों का सामना करना पडा यह समझाइए | एक्ज़िबिट की सबसे महत्वपूर्ण सामग्री और उसकी विशेषताए दिखाएं | संदर्भ वाचन (reference reading) का उल्लेख करें लेकिन मंतव्य में संक्षिप्त रहे |

अवलोकन (Observations)
अगर आपके एक्ज़िबिट में कोइ चीज ऐसी है जो खोजने के लिए कठिन है और आपने ऐसी कोइ चीज अपने एक्ज़िबिट में दिखाई है तो उसे परिभाषित करें |

यदि आपकी कोई नयी खोज, निष्कर्ष या टिप्पणियां अगर एक्ज़िबिट में है तो उसे प्रस्तुत करें और एक्ज़िबिट में यह कहां है वो दिखाएँ | अगर आपका एक्ज़िबिट पोस्टल हिस्टरी (postal history) का है और वहाँ कोई महत्वपूर्ण घटना का उल्लेख है तो इस घटना ने डाक सेवाको कैसे प्रभावित कीया यह बताना चाहिये |

एक्ज़िबिट में प्रभावशाली चिजों (Items of impact in the Exhibit) को फ्रेम की सूची के अनुसार क्रमांकित करें (List by frame nos) | अगर कोइ अनूठापन (rarity), है या दुर्लभ चीजें है तो उसे लाल बिंदुसे या कोइ अलग तरिके से स्पष्ट करें |

फिलाटेलीक संन्दर्भ (Philatelic References)
आपने जो संदर्भ सामग्री का इस्तेमाल कीया है उसकी एक सूची बनाएं उसमें केवल महत्वपूर्ण स्रोत ही दर्शाएं | यदि उसमें आपका खुदका मूल संशोधन (original research) अगर है तो उसे दर्शाएं और साथ में खोज के स्त्रोतों (sources) का भी उल्लेख करें | यदि संशोधन अपना स्वयं का अध्ययन है तो उस चीज का भी उल्लेख करें |

एक्ज़िबिट के सार पृष्ठ (Synopsis) में आप आपके इस एक्ज़िबिट को मिले हुए पुरस्कार (awards) के बारे में भी जानकारी दे सकते है |

उपरोक्त चीजों को ध्यानमें रख कर अगर आप अपने एक्ज़िबिट का सार पृष्ठ (Synopsis) बनाएंगे तो ज्युरी के सदस्यों (members of jury) को आप अपने एक्ज़िबिट को बहुत ही अच्छी तरह से समझाने में मददरुप होंगे और ज्युरी आपके एक्ज़िबिट को अच्छी तरह से न्याय दे पाएंगे |

- - - - - - - - - - - - - - - - - - - - - - - - - - - - - - - - - - - - - - - - - - - - - - - - - - - - - - - - - - -
English version of this short note can be read at www.vadophil.org/reading.htm